RSS क्या है? (RSS full form)

Hello दोस्तों, Blogkarle में आपका स्वागत है आज एक इस Blog में हम आरएसएस(RSS) के बारे में जानने वाले है। साथ में ही हम RSS Full Form को भी जानेंगे और संघ से जुड़ी तमाम जानकारी हासिल करने वाले है आज हम जानेगे की आरएसएस(RSS) क्या होता है ? RSS full form और कैसे आप RSS से जुड़ सकते है, इससे जुड़ने के क्या क्या फायदे है तो आइये इसके बारे में हम थोडा विस्तार में जानते है।

RSS क्या है?

rss kya hai, rss full form

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एक “राष्ट्रीय स्वयंसेवी संगठन” या “राष्ट्रीय देशभक्ति संगठन” है। यह दक्षिणपंथी, धर्मार्थ, शैक्षिक, हिंदू राष्ट्रवादी, गैर-सरकारी और दुनिया का सबसे बड़ा स्वैच्छिक गैर-सरकारी संगठन है। आरएसएस विश्व का सबसे बड़ा संगठन है।

RSS का पूर्ण रूप राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ है। RSS एक भारतीय दक्षिणपंथी, हिंदू राष्ट्रवादी, शैक्षिक, गैर-सरकारी और अर्धसैनिक स्वयंसेवक संगठन है। यह विश्व का सबसे बड़ा स्वैच्छिक गैर-सरकारी संगठन है। RSS संघ परिवार (RSS का परिवार) नामक संगठनों के एक बड़े निकाय का पूर्वज और नेता है, जिसकी भारतीय समाज के सभी पहलुओं में उपस्थिति है।

डीएनए का फुल फॉर्म क्या है?

इसका मुख्य उद्देश्य एक सामाजिक संगठन की स्थापना करना था जो हिंदू अनुशासन के माध्यम से चरित्र प्रशिक्षण प्रदान करता है और हिंदू समुदाय को एकजुट करता है। RSS एक संगठन के रूप में परिवार की तरह काम करता है। आरएसएस का उद्देश्य हिन्दू राष्ट्र बनाने के लिए हिंदू समुदाय को एकजुट करना है।

RSS Full Form

RSS का Full Form Rashtriya Swayamsevak Sangh है हिंदी में इसे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नाम से जाना जाता है यह एक गैर सरकारी भारतीय संगठन है। यह एक हिन्दू राष्ट्रवादी संगठन है। इसका निर्माण हिंदुत्व के हितो के लिए किया गया है। इसका मूल आधार हिन्दू धर्म है। यह संगठन सेवा,संस्कार एवं देश के प्रति समर्पण के उद्देश्य से काम करता है।

RSS एक नजर में

जैसा की आपने ऊपर पढ़ा की राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एक “राष्ट्रीय स्वयंसेवी संगठन” या “राष्ट्रीय देशभक्ति संगठन” है। यह दक्षिणपंथी, धर्मार्थ, शैक्षिक, हिंदू राष्ट्रवादी, गैर-सरकारी और दुनिया का सबसे बड़ा स्वैच्छिक गैर-सरकारी संगठन है। आरएसएस विश्व का सबसे बड़ा संगठन है।

आरएसएस(RSS) एक संगठन है जिसकी स्थापना 27 सितम्बर वर्ष 1925 को डॉ॰ केशव बलिराम हेडगेवार जी के द्वारा की गयी थी। इस संगठन की स्थापना विजयादशमी के दिन की गयी थी RSS के द्वारा विजयादशमी का त्योहार बड़े हर्षोल्लास से मनाया जाता है। RSS का मुख्यालय भारत के नागपुर शहर में है, नागपुर महाराष्ट्र में स्थित है।

RSS के सरसंघचालक(chief): मोहन भागवत जी है।

RTI क्या होता है? (RTI Full Form)

बीबीसी के अनुसार संघ विश्व का सबसे बड़ा स्वयंसेवी संस्थान है। RSS के गठन के पश्चात इसमें मात्र 17 सदस्य थे, लेकिन वर्तमान समय में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के करोड़ों की संख्या में सदस्य है और सभी लगातार देश के प्रति अपनी सेवा देने में लगे हुए है।

संघ का सबसे बड़ा कार्य है सामाजिक सेवा और सुधार करना। आजादी के वक्त इस संगठन के द्वारा बढ़-चढ़ कर भाग लिया गया था और अंग्रेजों से डट कर मुकाबला किया था।

आज भी देश में कोई भी महामारी आये या फिर कोई भी प्राकृतिक आपदा आये संघ सदैव अपनी सेवा देने के लिए तत्पर रहता है। राहत और पुर्नवास संघ कि पुरानी परंपरा रही है। संघ की उपस्थिति भारतीय समाज के हर क्षेत्र में महसूस की जा सकती है।

RSS से कैसे जुड़ सकते है?

अगर आप इस संघ से जुड़ना चाहते है या इसमे रहकर काम करना चाहते है तो इसके लिए आप संघ के दैनिक, साप्ताहिक या मासिक गतिविधियों में शामिल हो कर इसका हिस्सा बन सकते है इसकी शाखा आपको हर क्षेत्र, विभाग, जिले, प्रांत और केंद्र पर मिल जाएगी इसमे सभी स्तर के संघ मंडली की बैठक होती है।

RSS संगठन में सम्मिलित होने के लिए किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाता है। इसकी सदस्यता लेना बहुत ही आसान है। इस से जुड़ने के लिए निचे के बताये हुए स्टेप्स को follow करना है।

Pan Card Se Aadhar Link Kaise Kare

  • सबसे पहले Google में जाके आपको JOIN RSS टाइप करना है।
  • उसके बाद आपको पहले वाले लिंक को open करना है।
  • लिंक open होने के बाद आपको JOIN RSS REGISTRATION FORM करके एक पेज खुल जायेगा।
  • इस पेज में आपको कुछ अपनी महत्वपूर्ण जानकारी भरनी पड़ेगी जैसे की Applicant Information, Present Address, Permanent Address
  • अपना डिटेल्स भरने के बाद आपको Submit वाले बटन पर क्लिक करके process को पूरा करना है।
  • इसके बाद फिर आपको आपके मोबाइल नंबर और email id पर कन्फर्मेशन मेसेज मिल जायेगा।

RSS से जुड़ने के फायदे

RSS प्रमुख के कथन के अनुसार RSS में जुड़ने से किसी भी व्यक्ति को कोई फायदा नही है क्योंकि RSS कोई राजनितिक पार्एटी नही है या फिर कोई बिज़नेस नही है जिसमे व्यक्ति को व्यक्तिगत लाभ मिले इसमे केवल वे लोग ही शामिल हो सकते है जो समाज और राष्ट्र का लाभ चाहते हो।

Koo App Kya Hai

  • इससे आप जाति भेदभाव को भूल जायेंगे।
  • आप सदैव लोगों की सेवा करने तथा देश हित में सोचने लगेंगे।
  • आप सीखेंगे की प्राकृतिक आपदाओं में कैसे लोगों की मदद करे।
  • आपको अपनी महान संस्कृति और इतिहास पर गर्व होगा।
  • अगर आप रोज़ाना RSS शाखा में जा रहे है तो आप रोज़ाना नये लोगों से मिलेंगे।
  • RSS में रोजाना व्यायाम करने से आपका शारीर स्वस्थ रहेगा।
  • RSS में जाने से आप में राष्ट्रवादी और देश भक्ति की भावना जागृत हो जाती है।

Conclusion

हम आशा करते है की इस article से आपको RSS क्या है? (RSS full form) के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हुई होगी , ऐसे ही interesting articles पढने के लिए आप हमारे blog पर आ सकते है , इस जानकारी को ज्यादा से ज्यादा Share करें ताकि अन्य लोग भी इसके बारे में जानकारी हासिल कर सके।